अपने बच्चे का भविष्य संवारिए, अभी से ! - Money Sanchay

अपने बच्चे का भविष्य संवारिए, अभी से !

बच्चों के भविष्य के लिए बचत आज से ही शुरू करें !

योजना बना कर जीवन जीने से ही  हम अपने जीवन के लक्ष्य को पा सकते हैं, ये अलग बात है कि योजना बनाने से बड़ा डर लगता है, और अपने बच्चे के भविष्य की योजना बनाना और भी ज्यादा परेशान करता है। हम आज इस लेख के माध्यम से हमारी जिंदगी को आसान बना रहे हैं और आपको बता रहे हैं कि योजना कैसे बनानी चाहिए।
सबसे पहले एक प्रश्न  – 
– मेरा वेतन हर माह 60,000 रुपए है। मेरा एक साल का बच्चा है। उसके भविष्य के लिए मुझे कहां निवेश करना चाहिए? मेरी बचतें इस प्रकार हैं:
1- मेरे पास एक यूलिप पालिसी और एक एलआईसी पालिसी है। इनमें मैं हर साल 36,000 रुपए का निवेश करता हूं। 
2. मैं एक एसआईपी म्यूचुअल फंड में हर माह 5,000 रुपए निवेश करता हूं। 
अब मैं बच्चों की एक योजना में निवेश करना चाहता हूं। मुझे क्या करना चाहिए? 


बच्चों की योजना, जितना लोग सोचते हैं, उससे भी ज्यादा जटिल है। आपकी वित्तीय योजना में निम्न विशेषताएं शामिल होने  चाहिएः
-तरलता
-लचीलापन
-सबसे अच्छे रिटर्न
आपकी योजना का कोई प्रारूप पहले से तैयार नहीं हो सकता है बस एक अंदाजा लगाया जा सकता है । जैसे, जब आपका बच्चा ग्रेजुएट होगा, तब भुगतान मिलना चाहिए आदि। असली दिक्कत अनुकूलता के पैटर्न में है, क्योंकि आपको कैसे पता चलेगा कि कब, कितनी रकम आपको चाहिए? अगर आपको ज्यादा धन चाहिए तो आप क्या करेंगे?
अपनी योजना बनाने के लिए आपके पास एक अच्छा रास्ता है। आप अपनी और बच्चे की जिंदगी को बेहतर बनाने के लिए यह रणनीति अपना सकते हैं
कदम 1
सबसे पहले ये अंदाजा लगाइए कि अपने बच्चे के लिए आप कितना पैसा किस उम्र तक बचाना चाहते हैं। मान लीजिए कि जब वह 18 साल का होगा तब तक आप एक लाख रुपए बचाना चाहते हैं। उसे शुरू कर दीजिए। 
कदम 2
जब आपका बच्चा एक साल का होगा तब आपको बच्चे की मद में कितना धन रखना चाहिए।
कदम 3
जब बच्चा दो साल का होगा तब आपको बच्चे के लिए कितना धन रखना चाहिए। संभावित खर्चों का हिसाब लगा लीजिए। 


कदम 4
आठ-नौ फीसदी की ऊंची मुद्रास्फीति दर को ध्यान में रखते हुए भविष्य के खर्चों का हिसाब लगाइए। 
कदम 5
सुनिश्चित कीजिए कि आपको प्रतिफल की कितनी दर चाहिए। अपने जोखिम का एक प्रोफाइल तैयार कर लीजिए। 
कदम 6
आप जितने रिटर्न की उम्मीद कर रहे हैं, उसके आधार पर निवेश के आयाम का चुनाव कीजिए। 
कदम 7 
जब आप एक बार इन सातों कदमों पर अमल कर लें तब आपको ये परिणाम मिलेंगेः 
1.    आपको अपने बच्चे की जिंदगी के लिए धन जुटाने के बारे में कोई चिंता नहीं करनी पड़ेगी। 
2.    जब भी जरूरत होगी हर साल आप बदलाव कर सकेंगे। 
अगर आपको बीमा पालिसी या बैलेंस्ड फंड या आक्रामक इक्विटी फंड या डायरेक्ट इक्विटी की जरूरत होगी तो आप इसको जान जाएंगे। आप अपने आकलन की पुनरगणना कर सकेंगे। 
इसलिए अपने बच्चे के सुरक्षित भविष्य की योजना अभी से बना लीजिए।

मित्रों यदि आपको ये लेख अच्छा लगा हो तो अपने दोस्तों में शेयर करें |

आप इसी तरह के लेख पढ़ने के लये इस पेज में सबसे ऊपर subscribe पर क्लिक कर अपना email लिख कर हमसे जुड़ सकते हैं |

आप निचे click करके हमें YouTube और Facebook पर Follow कर सकते हैं |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *