कोई क्यूँ आता है आयकर के जाँच के दायरे में - Money Sanchay

कोई क्यूँ आता है आयकर के जाँच के दायरे में

कोई क्यूँ आता है आयकर के जाँच के दायरे में 

हम अक्सर सुनतें हैं की फलां आदमी के घर आयकर वालों का छापा पड़ा और उनकी सम्पतियो को जब्त करलिये गया है , इससे उनको आर्थिक नुकसान तो होता ही है साथ ही उनकी इज्जत और शोहरत भी चली जाती है | ये सब सुनकर हमें भी डर लगता है कि कहीं हम भी ना आयकर के जाँच के दायरे में आजायें | वैसे सांच को कभी आंच नहीं लगती है , अगर आपने सही आयकर भरा है तो आपको बिलकुल नहीं डरना चाहिए | हम आपको बताएँगे कि अगर आयकर जाँच अर्थात स्क्रूटनी में नाम आने के क्या कारण हो सकते हैं , जिससे आप आगे से ध्यान रखें और सुखी वित्तीय जीवन बिताएं 
आयकर के जाँच में आने के कारण :- 
1- आय में अचानक बहुत ज्यादा अंतर आना अर्थात पिछले साल अगर आय ज्यादा थी और इस साल बहुत कम हो जाना या फिर अगर पिछले साल आय बहुत कम था तो इस साल अचानक ज्यादा हो जाना |
2- यदि आपने किसी वर्ष आयकर रिटर्न नहीं भरा है तो ये जाँच का विषय हो सकता है, आपको इसका सही और सटीक कारण बताना चाहिए ताकि आप जाँच में बंच सकें |
3- हमें सभी प्रकार के आय को आयकर रिटर्न में दिखाना चाहिए चाहे वो बांको में जमा धन पर ब्याज ही क्यूँ ना मिला हो या फिर किराये से हुई आय ही क्यूँ न हो |
4- लॉन्ग टर्म गेन जैसे भूमि भएवन के खरीदने अथवा बेचने या क्रेडिट कार्ड के बहुत ज्यादा त्रन्गेक्तिओन दिखाने पर भी जाँच हो सकती है |
5- अगर आयकर की वेबसाइट के फॉर्म 26AS में दर्शाये गए TDS और आयकर रिटर्न में दिखाए गए TDS में बहुत ज्यादा अंतर होने पर भी आप आयकर के जाँच के दायरे में आसकते हैं |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *