Demat Account Meaning In Hindi | Demat क्या है? Demat कैसे काम करता है?

आज के इस पोस्ट में हम आपसे Demat Account Meaning In Hindi के विषय में चर्चा करेंगे |  Demat क्या है, कैसे काम करता है, Demat की आवश्यकता क्यों पड़ती है और इसके क्या क्या फायदे हैं विस्तार से हिंदी में जानिये.

Demat Account Meaning In Hindi

Demat कैसे काम करता है?

डीमैट क्या है?” को आसानी से ऐसे समझिये, जैसे हम आपने पैसे अपने बैंक के खाते में रखते हैं वैसे ही हम अपने खरीदे गए शेयर डीमैट खाते में रखते हैं |
 जब हम अपने डेबिट कार्ड से किसी दूकानदार को पेमेंट करते हैं तो यह पैसों का इलेक्ट्रॉनिक ट्रान्सफर हुआ और हम यदि बैंक के खाते से नकदी निकलवा लें तो वह नकदी या करंसी पैसे का भौतिक रूप है |  
इसी प्रकार यदि हमारे पास शेयर हैं तो हम या तो उन्हें किसी को उपहार में देंगे या बाजार में बेच देंगे, दोनों ही परिस्थितियों में शेयरों का एक डीमैट खाते से दूसरे डीमैट खाते में इलेक्ट्रॉनिक ट्रान्सफर किया जाएगा. शेयरों को भौतिक रूप में रखने की आवश्यकता ही नहीं पड़ती.

अगर अन्य शब्दों में कहें तो ये एक प्रकार का खाता होता है जिसमे हम अपना शेयर जमा करते हैं


डीमैट खाता क्यों होना चाहिए?

 
SEBI के दिशानिर्देश के अनुसार डीमैट को छोड़कर किसी अन्य रूप में शेयरों को बेचा या खरीदा नहीं जा सकता है। इसलिए, अगर आपको Share Market से स्टॉक खरीदना या बेचना हो तो आपके पास डीमैट खाता होना अनिवार्य है

For Open Demat Account make a enquiry 

Kotek Securities Click Me
Karvy Click Me
Angel Broking Click Me
 
 भारत में शेयर और प्रतिभूतियां को इलेक्ट्रॉनिक रूप से Dematerialized  यानी डीमैट खातों में रखा जाता है. शेयर धारक शेयरों को भौतिक रूप में यानी कागज़ पर छपे हुए शेयर सर्टिफिकेट नहीं रखते.
इसके लिए ब्रोकर के पास जा कर डीमैट खाता खुलवाया जाता है. सभी शेयरों के लेनदेन में डीमैट खाते का नंबर लिखा जाता है जिससे कि शेयरों की खरीद बिक्री का इलेक्ट्रॉनिक सेटलमेंट हो सके. किसी भी तरह के शेयरों के लेनदेन के लिए शेयर होल्डर के पास डीमैट खाता होना आवश्यक है.


religaresecurities

“मेरी तरह आप भी अगर Blogging करना चाहते है तो आप www.hinditohindi.com 
पर visit कर सकते हैं |” 
 
डीमैट खाते तक पहुँचने के लिए इन्टरनेट पर पासवर्ड की जरूरत होती है. शेयरों की खरीद और बिक्री सौदा कन्फर्म होने पर स्वत ही हो जाती है. 
जब भी कोई कंपनी बोनस अथवा राईट शेयर जाती कराती है तो ये शेयर भी सीधे शेयर होल्डर के डीमैट खाते में आ जाते हैं. आईपीओ IPO में शेयरों के आवेदन करने के लिए भी डीमैट खाते की आवश्यकता है. यदि आईपीओ में आपको शेयर मिले हैं तो वे सीधे आपके डीमैट खाते में ही आ जाते हैं.


Benifits of Demat Account: 

Demat Account Meaning In Hindi

 

 
1 – डीमैट शेयर गुम नहीं होते
2- खराब नहीं हो सकते
3- इनसे सिग्नेचर ना मिलने जैसी समस्या भी नहीं होती.
4- डीमैट खातों की वजह से शेयरों की खरीद बिक्री में धोखा होने की संभावना भी समाप्त हो जाती है.
5-यह बहुत ही सुविधाजनक भी है.
6- इस खोलने में विशेष असुविधा नहीं होती है |
आप अपना डीमैट खाता किसी दूसरे को ट्रान्सफर नहीं कर सकते मगर इसमें पड़े शेयर दूसरे को ट्रान्सफर कर सकते हैं. डीमैट खाता किसी दूसरे के साथ जॉइंट तरीके से खुलवाया जा सकता है.
 
आप NSDL और CDSL जो demate खाते खोलते हैं,
 इन साइटों https://nsdl.co.in/ और 
http://www.cdslindia.com/ को भी देख सकते हैं 
 
How to Open Demat Account 
आप एक से अधिक dmat account भी खोल सकते हैं. अधिकतर निजी बैंक आपको डीमैट खाता खुलवाने की सुविधा देते हैं. इसके आलावा आप Online भी खाता खुलवा सकते हैं कई निजी ब्रोकर कंपनियों के पास डीमैट खाता खुलवाया जा सकता है.
Documents Required for Demat Account 
1- पैन कार्ड
2- फोटो पहचान पत्र
3- Address Proof
4- किसी बैंक में खाता|
 
निष्कर्ष – आशा है कि आपको Demat Account Meaning In Hindi समझ में आगया होगा | इस post में मैंने डीमैट क्या है? what is demat’ ‘डीमैट खाता क्यों होना चाहिए? why demat account is necessary?’ ‘demat खाते के लाभ ‘ Benifits of Demat Account, How to Open Demat Account और Documents Required for Demat Account जैसे प्रश्नों का उतर देने का प्रयास किया है|
मित्रों यदि आपको ये लेख अच्छा लगा हो तो अपने दोस्तों में शेयर करें |

 

 

 

3 thoughts on “Demat Account Meaning In Hindi | Demat क्या है? Demat कैसे काम करता है?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *