Tips for First Time Mutual Fund Investor in Hindi

Tips for First Time Mutual Fund Investor in Hindi

पहली बार म्यूचुअल फंड में निवेश वालों के लिये आवश्यक जानकारी 

यदि आप Mutual fund योजनाओं में निवेश करना चाहते हैं और आप first time mutual fund investor हैं तो हम आपके लिए लेकर आये है ‘Tips for First Time Mutual Fund Investor in Hindi’|

Mutual Fund में निवेश करने से पहले आपको कुछ बातों के बारे में स्पष्ट विचार कर लेना चाहिए जैसे- आपके निवेश का उद्देश्य क्या है, ज़ोखिम सहन करने का स्तर क्या है , परिसंपत्ति विनियोजन, समय सीमा, म्यूचुअल फंड के प्रकार, कर निहितार्थ आदि।

यहाँ पर कुछ बातों के बारे में विस्तार से बताने की कोशिश की गई है , आशा है की आपको ये लेख पसंद आएगा और बहुत काम आएगा ।

अगर आप Mutual Fund के बारे में नहीं जानते हैं तो जानिए : Mutual Fund क्या होता है ?

 My Tips for First Time Mutual Fund Investor in Hindi

1. आपके निवेश का उद्देश्य क्या है (investment goals)

किसी भी कार्य को प्रारंभ करने से पहले उसको करने का उद्देश्य क्या है अर्थात आप किन लक्ष्यों को सामने रख कर निवेश करना चाहते हैं इसका निर्धारण पहले ही कर लेना चाहिए |
लक्ष्य निर्धारण का सबसे बड़ा फायदा ये है कि इससे  आपको अपने Portfolio में अपने निवेश के उद्देश्य के अनुसार सही प्रकार के फंड का चुनाव करने में मदत मिलती है ।
यदि आप भविष्य में अपने बच्चे की शिक्षा के लिए निवेश कर रहे हैं तो आपको Equity Fund में निवेश करना चाहिए। अगर आप सेवानिवृत्त हैं और आप नियमित आय चाहते हैं तो सेवानिवृत्ति के बाद आपको जो राशि मिलती है उसे Monthly Income Plan  (MIP) में निवेश करना चाहिए।
अत: आपको कहाँ निवेश करना है यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपका निवेश करने के पीछे क्या उद्देश्य है।
तो ये था पहला Tips for First Time Mutual Fund Investor in Hindi

2.ज़ोखिम सहनशीलता स्तर (Risk Profile)

Mr Warren Buffet ने कहा है “व्यक्ति को कभी भी नदी की गहराई दोनों पैरों से नहीं मापना चाहिए”
अर्थात जब भी आप किसी निवेश माध्यम का चुनाव करें तो उसमे होने वाले जोखिम का पता लगायें और फिर अपने जोखिम सहन करने की क्षमता से उसकी तुलना करें।
अत: Mutual Fund में निवेश करने से पहले यह जानना बहुत जरुरी  है कि आपका ज़ोखिम सहनशीलता का स्तर क्या है? इससे हमारा तात्पर्य यह  है कि बाज़ार में होने वाले उतार चढ़ावों को आप किस स्तर तक सहन कर सकते हैं।
तो यह बात आपको तय करना है कि आप खतरा उठा सकते हैं या नहीं या फिर ज़ोखिम में तटस्थ रह सकते हैं।
 तो ये था Tips for First Time Mutual Fund Investor in Hindi

3.परिसंपत्ति विनियोजन (Investment Objectives )

परिसंपत्ति विनियोजन एक अन्य बड़ा पहलू है। निवेश के उद्देश्य और ज़ोखिम सहनशीलता के स्तर के बाद आपको परिसंपत्ति विनियोजन प्रारंभ करना चाहिए – निवेश की संपत्ति।

उदाहरण के लिए यदि आप ज़ोखिम उठाना पसंद करते हैं तो आप अधिक निवेश कर सकते हैं तथा यदि आप ज़ोखिम नहीं उठाना चाहते तो आप रुढ़िवादी (परिवर्तन विरोधी) शेयरों जैसे Balance Fund या large Cap Fund में निवेश कर सकते हैं।

4.समय सीमा

एक अन्य मुद्दा जो अतिमहत्वपूर्ण होने के कारण  विचार करने योग्य है कि आप कितने समय के लिए निवेश करना चाहते हैं। यदि आपके पास निवेश के लिए अधिक राशि है तथा इसे आप 6 से 7 वर्ष के लिए निवेश करना चाहते हैं तो आपको इनकम फंड्स के बजाय इक्विटी फंड्स में निवेश करना चाहिए तथा अपनी संपत्ति को बढ़ने का मौका देना चाहिए। यदि आप नई उम्र में ही निवेश करना शुरू करना चाह रहे हैं तो आप को अधिक समय तक निवेश करने की सोच रखनी चाहिए और आप इसके तहत Equity fund में निवेश कर सकते हैं |

5. म्यूचुअल फंड्स के प्रकार

Mutual Fund की विभिन्न श्रेणियों के बारे में जानना प्रत्येक निवेशकर्ता की आधारभूत आवश्यकता है।
Balanced Fund- ये डेबिट और इक्विटी दोनों के संकर है, इसमें कुछ धन निश्चित आय के लिए और कुछ आय Equity में लगाया जाता है, अत: इनमें ज़ोखिम कम होता है |
Large Cap Fund – बाज़ार पूंजीकरण के सन्दर्भ में शीर्ष 50 से 60 कंपनियों के विविध पोर्टफोलियो |Index Fund, टैक्स सेविंग फंड्स (टैक्स की बचत करने वाले फंड) ELSS Funds, मंथली इनकम प्लान (MIP) आदि।
और अधिक ज

6. कर निहितार्थ

यदि आप कुछ म्यूचुअल फंड्स में निवेश करके मुनाफ़ा कमाते हैं तो आपको कर चुकाना होता है। आपको म्यूचुअल फंड्स में किये जाने वाले निवेश पर निहितार्थ कर मालूम होना चाहिए।

7. निवेश में निरंतरता (Continuity In Investment )

निष्कर्ष: सबसे महत्वपूर्ण बात जो आपको याद रखनी चाहिए वह यह है कि आपको समय का ज्ञान होना आवश्यक है अर्थात कब प्रवेश करना है तथा कब बाहर निकलना है। आपको फंड पर किये जाने वाले खर्चे के अनुपात के बारे में जानना चाहिए तथा फंड मैनेजर पर और व्यापार चक्र के दौरान फंड के प्रदर्शन पर भी ध्यान रखना चाहिए। mutual fund हमेेेेशा लम्बी अवधि

मित्रों यदि आपको ये लेख अच्छा लगा हो तो अपने दोस्तों में शेयर करें |

One thought on “Tips for First Time Mutual Fund Investor in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *