What is an IPO Stock ? IPO क्या होता है?

What is an IPO Stock ?

IPO क्या होता है?

इस पोस्ट में मैं आपको what is IPO in stock market, know upcoming IPO in stock market, listig IPO के बारे में बताऊंगा । 
जब कोई कंपनी पहली बार आम लोगों के बीच अपने शेयर को जारी करती है और अपने शेयर के लिए जनता को आमंत्रण देती है तो उसे IPO (Initial Public Offering ) कहते हैं | इसके लिए कंपनियां शेयर बाज़ार में अपने शेयर को सूचीबद्ध  कराती हैं और आम निवेशकों को कंपनी के शेयर को खरीदने के लिए आमंत्रित करती हैं | भारत में कई बार सरकारी कंपनियां भी अपने शेयर जो सरकार के पास होती हैं अपना हिस्सा बेचती है जिसे विनिवेश कहती है , विनिवेश निति के तहत सरकार उन कंपनियों के लिए IPO लाती है | 

आईपीओ की कैसे आता है:

IPO कंपनी द्वारा निर्धारित कीमत पर ( Face value, Premium या Discount ) लाया जा सकता है | फिक्स्ड प्राइस मेथड में जिस कीमत पर शेयर को जनता के समक्ष प्रस्तुत करना है वो पहले से ही तय होता है | बुक बिल्डिंग में शेयर के मूल्य का दायरा तय होता है जिसके अंदर ही निवेशकों को बोली लगनी होती है |

आईपीओ में शेयर की कीमत कैसे तय करते हैं :

 आईपीओ की कीमत दो तरह से तय होती है :

प्राइस बैंड (Price Band ऑफ़ IPO ) :

 इंफ्रास्ट्रक्चर और कुछ दूसरे क्षेत्र की कंपनियों को छोड़ कर बाकि सभी कंपनियों को अपने शेयर के दाम तय करने का अधिकार है | कंपनी का बुकरनर और कंपनी के डायरेक्टर मिलकर शेयर का प्राइस बैंड तय करते हैं | भारत में 20 % प्राइस बैंड की इजाजत है अर्थात बैंड की अधिकतम सीमा फ्लोर प्राइस से 20 % के ऊपर नहीं हो सकता है |

अन्तिम कीमत (Last Price ) :

बैंड प्राइस तय होने के बाद निवेशक किसी भी किसी भी कीमत पर बोली लगा सकता है और साथ ही निवेशक cutoff बोली भी लगा सकते हैं | 

आईपीओ की रकम :- जब आईपीओ आता है तो उसमे बहुत सारे लोग अपना हिस्सा लेने के लिए निवेश करते हैं , इसमें निवेशकों के द्वारा लगे कई रकम सीधे कंपनी के खाते में पहुँच जाता है | आईपीओ के माध्यम से जैसे ही कंपनी शेयर मार्किट में रजिस्टर करा लेते है अर्थात कपानी की  लिस्टिंग हो जाती है तो शेयर की खरीद और बेचने से होने वाले नुकसान की जिम्मेदारी  हो जाती है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *